मित्र को पत्र कैसे लिखें | विभिन्न पत्र प्रारूप

दोस्ती का रिश्ता पवित्र होता है। दोस्त को पत्र लिखने से आपसी रिश्तों के भावनाओं, अनुभवों और विचारों को मधुरता मिलता है। हम उन्हीं दोस्तों को ही पत्र लिखते हैं, जिनसे हमारा लंगोटिया यारी होती है...
पूरा पढ़े

आमंत्रण पत्र कैसे लिखे | विभिन्न निमंत्रण पत्र प्रारूप

निमंत्रण पत्र का उद्देश्य किसी को किसी कार्यक्रम में शामिल होने या किसी स्थान पर जाने के लिए आमंत्रित करना है। यह एक औपचारिक या अनौपचारिक निमंत्रण हो सकता है, और यह कई अवसरों के लिए हो सकता है, जैसे कि ....
पूरा पढ़े

सकारात्मक सोच की शक्ति से जीवन कैसे सवारें

सकारात्मक सोच विकसित करने के लिए हमें दिमाग और भावनाओं पर काम करना चाहिए। यह आत्म-चिंतन, सेवा, ध्यान और गुरु के साथ अध्ययन जैसे अभ्यासों के माध्यम से संभव होता है...
पूरा पढ़े

माताजी को पत्र | विभिन्न विषयों पर पत्र प्रारूप

माँ से बढ़कर कोई परवरिश नही कर सकता। माताजी के बराबरी देखभाल और दायित्व कोई अन्य निभा नही सकता। इसलिए माताजी को विभिन्न अवसरों में पत्र...
पूरा पढ़े

भाई को पत्र | विभिन्न विषय पर पत्र प्रारूप

बच्चे अपनी भावनाओं को साथ अभिव्यक्त करने में थोड़े हिचकिचाते है। साथ ही माता-पिता से ज्यादा अपने बड़े भैया या दीदी के बात को ज्यादा मानते और विश्वास करते है। आज के लेख में भाई को पत्र लिखकर अपने रिश्तों के सुझाव, मार्गदर्शन, और खुशियों को...
पूरा पढ़े

अवकाश / छुट्टी के लिए विभिन्न प्रार्थना पत्र प्रारूप

अवकाश हेतु प्रार्थना पत्र शैक्षणिक संस्थान, तथा विभिन्न सरकारी और गैरसरकारी संस्थानों में बहुत उपयोगी होते हैं। जैसे कि, बीमारी के लिए प्रार्थना पत्र, परिवार संग समय गुजारने में, आकस्मिक जरुरी कार्यों के समय...
पूरा पढ़े

भावनाओं को नियंत्रित करना है तो आजमाएं ये 8 आसान उपाय

कोई भी व्यक्ति पूर्ण नही है। हर कोई गलती करता है, लेकिन जो गलतियों से सीखकर जिंदगी सुधरता, वही आगे बढ़ता है। वही जिंदगी के जंग जीतते हुए आगे बढ़ता है। कोशिश कीजिए कि...
पूरा पढ़े